डॉक्टर – एक जीवन रक्षक

डॉक्टर एक ऐसा शब्द है जिसे भगवान के बाद दूसरा दर्जा दिया जाता है। किसी भी बीमारी के लिए भगवान के बाद डॉक्टर को ही याद किया जाता है। डॉक्टर हमारे स्वास्थ्य की जांच करता है, डॉक्टर हमारे मानसिक और शारीरिक बीमारी को भी दूर करता है। अलग-अलग बीमारी का इलाज करने के लिए डॉक्टर विशेषज्ञ होते हैं, वो ज़ाती पात, उच्च – नीच आदि को ध्यान में न रखते हुए सबका का इलाज़ एक जैसे करते हैं।

चिकित्सा के क्षेत्र में आने के लिए शिक्षा पूरी करने और कठोर करने और कठोर परिश्रम करने में बर्षों लग जाते हैं।डॉक्टर बनने के लिए हमें एक परीक्षा देनी पड़ती है जो NTA यानी NATIONAL TESTING AGENCY द्वारा NEET का परीक्षा आयोजित कराया जाता है, तब पाश्चात्य सफल छात्र- छात्राओं को मेडिकल कॉलेज में दाखिला मिलता है। इस परीक्षा के बाद ही हमें मेडिकल के विभिन्न कोर्स में एडमिशन मिलता है।

डॉक्टर - एक जीवन रक्षक

डॉक्टरों की सेवा 24 घंटे होती है। वो लोग हरेक पल किसी भी भी गंभीर स्थिति के लिए तैयार रहते हैं, फिर चाहे दिन हो या फ़िर रात, वो सो रहे हैं या फिर किसी फंक्शन में जा रहे हैं। वो लोग हमेशा दुनिया के लिए तैयार रहते हैं। वह अपने निजी कार्य को छोड़कर हमेशा अपना कार्य के लिए तत्पर तैयार रहते हैं।

नीट परीक्षा में लगभग 17 लाख बच्चे बैठते हैं जिनमें से सिर्फ 40 हजार को ही मेडिकल कॉलेज में सीट मिल पाती है। हमारे भारत के कुछ डॉक्टर विदेश में जाकर कार्य करते हैं जैसा कि आप लोगों को पता ही होगा कि प्राचीन समय में लोग भगवान के बाद डॉक्टर को ही याद करते थे, वो डॉक्टर ही थे जो लोगों को बचाने में सहायता करते थे। एक तरफ जब पूरा भारत COVID-19 से लड़ रहा था, जब पूरा भारत COVID-19 के कारण LOCKDOWN में बंद था तो ठीक दूसरी तरफ हमारे देश के डॉक्टर अपने कार्य में लगे हुए थे, वो दूसरों की जान बचाने में लगे हुए थे।

डॉक्टर - एक जीवन रक्षक

दुर्भाग्यवश जान बचाते हुए हमारे देश के बहुत से डॉक्टर ने भी अपनी जान गवाई थी । वो लोग कई कई दिन कई कई रात अपने घर, परिवार से दूर रहे और दूसरों के सेवा के लिए तत्पर रहे।

अगर डॉक्टर ना होते तो?

अगर डॉक्टर ना होते तो आप लोग सोच ही सकते हैं। हमारे देश का आज क्या हाल क्या होता? डॉक्टर ही एकमात्र ऐसा व्यक्ति होता है जिससे हम अपने कोई भी बीमारी नहीं छुपाते क्योंकि हमारी बीमारी को विस्तार से जानने के बाद हमारा इलाज का शुरुआत वही करते हैं। COVID-19 के समय में हमें इस बात का भी पता चला कि हमारे देश में डॉक्टरों की कितनी कमी है।

जैसा कि आप लोगों को पता है कि डॉक्टर ही वो लोग होते हैं जो लोगों की जान बचाते हैं, और कभी-कभी किन्हीं कारणों की वजह से उनसे किसी की जान चली भी जाती है; चाहे वह ज्यादा खून बहना हो या फिर देरी आखिर वो भी तो इंसान ही है और गलती इंसान से ही होती है और अगर वो लाखों लोगों की जान बचा रहे हैं और किन्हीं कारणों से एक की जान चली जाए तो इसका मतलब यह नहीं कि हम उन लोगों पर गलत आरोप लगाए और उन्हें आरोपित करार दें या फिर उनको परेशान करें या फ़िर प्रताड़ित करें, कि वो कुछ गलत कदम उठाने पर मजबूर हो जाए।

डॉ. अर्चना शर्मा का केस स्टडी

हाल ही में एक ऐसा सच राजस्थान के दौसा जिले के लालसोट कस्बे के सामने से आया है, जहां पर एक महिला चिकित्सक डॉ अर्चना शर्मा ने फंदे से लटक कर आत्महत्या कर ली।

घरवालों के अनुसार डॉ अर्चना के इलाज में लापरवाही की वजह से गर्भवती महिला की मौत हुई है। जिस वजह से सोमवार को उसको खिलाफ थाने में मामला दर्ज किया गया है, तभी से वह मानसिक रूप से परेशान थी। उन्हें इतना प्रताड़ित किया गया कि अपनी बेगुनाही साबित करने के लिए आत्महत्या करना ही उन्होंने सही समझा, दो छोटे-छोटे बच्चे को अपनी मां का पूरी तरह से प्यार मिला भी नहीं था कि कुछ लोगों के कारण वो उसी से पहले उन्हें छोड़कर चली गई।

बच्चों से मां का प्यार छिन गया और मां से बच्चों का प्यार छिन गया और हमारे देश के एक डॉक्टर छिन गयीं।

डॉक्टर - एक जीवन रक्षक

हर डॉक्टर अपने मरीज की जान बचाने के लिए अपना पूरा प्रयास लगा देता है पर कुछ दुर्घटना होते ही उन पर आरोप लगाने शुरू हो जाते हैं। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी इस घटना पर दुख जताया है।

हमें अपने देश के डॉक्टर को इतना प्रताड़ित नहीं करना चाहिए कि वह कुछ गलत कदम उठा ले और हमारी आने वाली पीढ़ी डॉक्टर बनने से घबराए। वे लोग हमारे देश के लिए एक अहम भूमिका निभा रहे हैं। वे लोग अपना कार्य 100% लगन से करते हैं। इसलिए हमें कभी भी उनके कार्य में कमी नहीं निकालनी चाहिए। हमें अपने देश के डॉक्टरों का सम्मान करना चाहिए क्योंकि वह मरीजों को एक नई जिंदगी देते हैं।

इसे भी पढ़े

  1. PCOD Symptoms Causes And Treatments
  2. The Wonders of Meditation
  3. 15 Amazing Benefits Of Guava Oil For Skin

धन्यवाद

1 thought on “डॉक्टर – एक जीवन रक्षक”

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.